White rasgulla recipe in hindi

दोस्तों इस आर्टिकल में हम White rasgulla recipe in hindi, छेना के रसगुल्ला बनाने की विधि, chhena rasgulla banane ka tarika, safed rasgulla kaise banate hain, spongy rasgulla recipe in hindi के बारे में बतायेंगे तो चलिए शुरू करते हैं

          रसगुल्ला भारतीय उपमहादीप की एक लोकप्रिय मिठाई है छेना का रसगुल्ला बंगाल में तो प्रशिद्ध है ही पर बंगाल के साथ-साथ ये पुरे भारत में मशहूर है छेना खाना किसे पसन्द नही है बहुत लोगो कि ये पसंदीदा मिठाइयो में से एक है छेना रसगुल्ला में विटामिन-बी पाया जाता है जो हमें ऊर्जा प्रदान करता है और हमारे शरीर की एनर्जी देता है ये हमारे शरीर के लिए लाभकारी है छेना खाने के साथ-साथ बनाना भी बहुत लोग चाहते है।

               यह एकदम गोल और रस से भरी हुई होती है जिसे चीनी की चाशनी में डुबोकर बनाया जाता है इसे ठंडा करके खाया जाता है ठंडा chena rasgulla स्वाद को और भी बढ़ा देता है पश्चिम बंगाल में इसको बनाने की परंपरा शुरू हुई थी और आज यह बंगाल के साथ-साथ पूरे भारत में मशहूर है यह इतना स्पंजी और गोल होता है कि इसको देखते ही मुंह में पानी आने लगता है और आप इसको खाये बिना रह नही पाएंगे।

Sponge Rasgulla Recipe in hindi| सफ़ेद छेना रसगुल्ला रेसिपी | Tasty White rasgulla recipe in hindi

         वैसे तो छेना बनाना इतना मुश्किल नही है पर फिर भी बहुत से लोग ऐसे भी है जिनसे अच्छे छेने नही बन पाते है या तो छेने के रसगुल्ले बनाते समय फट जाते है या फिर वो सही से फूल नही पाते और बाद में चपटे हो जाते है।

         इसे लिए आज हम आपके साथ छेने के रसगुल्ले बनाने कि रेसिपी शेयर करने रहे है और साथ हीं ये भी बतायेगे कि आप किन-किन बातो का ध्यान रखे जिससे आपके छेने फटे नही और अच्छे sponge rasgulla बने तो चलिए safed rasgulla kaise banate hain इसके बारे में जानते है।

White rasgulla recipe | छेना रसगुल्ला रेसिपी

दूध                 =              1½  लीटर

निम्बू का रस     =               1 बड़ा चम्मच

अरारोट/ मैदा     =                1 बड़ा चम्मच

रसगुल्ले की चाशनी के लिए

चीनी                     =               ½ किलो

पानी                      =               1½ लीटर

इलायची पाउडर        =               1 चम्मच 

Chhena ke rasgulla banane ki vidhi | Safed rasgulla kaise banate hain

इस विधि में हम आपको safed rasgulla banane ka tarika बताने वाले है कि कैसे bengali rasgulla (Chhena rasgulla) किस तरह से बनाते है तो चलिए शुरू करते है।

  • सबसे पहले डेढ़ लीटर दूध लेंगे और इसे एक उबाल आने के बाद गैस बंद कर देंगे। 
  • फिर हम इसमें नींबू का रस डाल देंगे।
  •  जब  दूध फट जाएगा तब इसका छेना एक बर्तन में बड़ी छन्नी रख के उसके ऊपर सूती कपड़े में रखकर छेना छान लेंगे।
  • फिर इसमें दो गिलास पानी डाल कर धो लेंगे ताकि नींबू का खट्टापन निकल जाए।
  • अब हम इसे अच्छे से छान लेंगे और थोड़े देर के लिए कपड़े में ही छेना बांधकर लटका देंगे ताकि इसका सारा पानी न निचूड़ जाए और छेना सूख जाए।
  • छेने में थोड़ा-सा भी पानी रहेगा तो यह अच्छा नहीं बनेगा इसलिए छेने का पानी अच्छे से सुखा लेंगे।
  • फिर इसे एक प्लेट में निकाल कर इसमें एक चम्मच मैदा मिलाकर मिक्स करके हल्के हाथों से गुदेंगे ।
  • जितना गुदेगे उतना ही छेना अच्छा बनेगा। 7 से 8 मिनट तक ऐसे ही मलमल के गुदेंगे फिर इसकी छोटी- छोटी गोल-गोल बॉल्स बनाएंगे।
  • बॉल्स बनाते समय इस बात का ध्यान रखेंगे कि ये फटे न नहीं तो जब हम बॉल्स चाशनी में से डालेंगे तो रसगुल्ले फट जाएंगे।
  • इसके बाद रसगुल्ले कि चाशनी बनाने के लिए डेढ़ लीटर पानी में 500 ग्राम चीनी डालकर इसे तेज आंच पर उबलेगे।
  • एक उबाल आने के बाद हम इसमें हरी इलायची पाउडर डालेंगे।
  • इसके बाद उसमें बहुत धीरे-धीरे एक-एक करके बॉल्स डालेंगे एक साथ सारे बॉल्स नही डालेंगे नही तो ये अच्छे से फूलेगे नही एक-एक कर के हीं डालेंगे।
  • फिर हम इसे 10 मिनट ढक कर पकाएंगे।
  • फिर 10 मिनट बाद हल्के हाथों से धीरे-धीरे चमचे की मदद से पलटेंगे और फिर ढक 10 मिनट और पकाएंगे।
  • फिर गैस बंद कर देंगे इसके बाद इसे 1-2 घंटे ठंडा होने के लिए रख देंगे जब ठंडा हो जाएगा तब हम इसे फ्रीज में 2-3 घंटे के लिए रख देंगे।
  • इसके बाद हम इसे खाने के लिए सर्व करेंगे।
safed-rasgulla-kaise-banate-hain hindi salahkar

अन्य रेसिपी पढ़ें – स्वादिष्ट पनीर जलेबी की रेसिपी

अन्य रेसिपी पढ़ें – नारियल बर्फी की रेसिपी

पनीर के रसगुल्ले बनाते समय ध्यान रखने वाली बाते

  • छेना में आरारोट या मैदा दोनों में से किसी का भी उपयोग कर सकते है।
  • दूध को फाड़ते समय निम्बू का रस या सिरके का उपयोग करे सकते है पर जिसका भी उपयोग करे चाहना चैनल के बाद एक नाद नार्मल पानी से धो कर साफ कर ले ताकि इसका खट्टापन निकल जाए नही तो रसगुल्ले बहुत हीं खट्टे बनेगे।
  • छेने कि बॉल्स को एक-एक कर के हीं पानी में डालेंगे नही तो रसगुल्ले अच्छे से फूलगा नही और बाद में ये चपटे हो जायेगे।
  • छेने का पानी पूरी तरह से सूखा ले तब छेने कि बॉल्स बनाएं नही तो बॉल्स सही नही बनेगी इजसे रसगुल्ले फट जायेगे।

छेने रसगुल्ले का सेवन किसको करना चाहिए?

शायद ही कुछ लोग को ना पत्ता हो सफ़ेद रसगुल्ले खाने से शरीर को कितबे सारे फायदेमंद होते है रसगुल्ले में प्रोटीन(protein) कार्बोहाइड्रेड(Carbohydrate) लैक्टोएसिड (lactic acid) पाया जाता है जो हमारी सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है  तो चलिए जानते है रसगुल्ले खाने के फायदे के बारे में।

यह भी पढ़ें- दुबले पतले शरीर को मोटा कैसे बनाएं

छेना रसगुल्ला खाने के फायदे

        छेने वाले रसगुल्ले का सेवन करने से थकान दूर होती है रसगुल्ला दूध को फाड़ कर उसके छेने से बनाया जाता है इसलिए दूध में पाए जाने वाले तत्व कैल्शियम प्रचुर मात्रा में मिलता है जिससे शरीर की कमजोरी दूर होती है और हड्डियां मजबूत होती है।

        छेने रसगुल्ले का सेवन यूरिन में जलन वाले लोग करते हैं तो उनकी समस्या जल्दी खत्म हो जाएगी यह उनके लिए फायदेमंद है। रसगुल्ले का सेवन गर्भवती महिलाओं के करने से उनके शिशु का वजन बढ़ता है। यह उनके लिए लाभकारी है।

यह वजन बढ़ाने में भी मदद करता है।

छेने रसगुल्ले का सेवन किसको नही करना चाहिए?

वैसे तो रसगुल्ले का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता है पर मीठा होने के कारण ये कुछ लोगो के लिये हानिकारक भी हो सकता है इस लिये उन लोगो को इसका सेवन करने से बचना चाहिए तो आइये जानते किन-किन लोगो को इसका सेवन नही करना चाहिए।

छेना रसगुल्ला खाने के नुकसान

          छेना रसगुल्ला का सेवन मधुमेह रोग, हृदय रोगी और वजन घटाने वाले लोगों को बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। यह आपके लिए हानिकारक होता है।

       छेने रसगुल्ले का सेवन जिन लोगो को मौसम से एलर्जी हो वो लोग ठन्डे मौसम में ना करे छेने रसगुल्ले कि तासीर ठंडी होती है जिसकी वजह से आपको जुकाम, खासी, एलर्जी आदि समस्या बढ़ सकती है।

Note – स्वास्थ्य सम्बंधी सभी बातें सिर्फ education purpose (जानकारी सम्बंधी) के लिए हैं, इनका पालन करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें

अन्य रेसिपी पढ़ें – कच्चे केले चिप्स रेसिपी

अन्य रेसिपी पढ़ें – गाजर का हलवा रेसिपी

रसगुल्ला स्पंजी क्यों नहीं होता है?

रसगुल्ले को फूलने के लिए ज्यादा चासनी और जगह चाहिए होती है चाशनी ज्यादा और बड़े गहरे बर्तन में बनाएं जिसमे रसगुल्ले कि गोली पूरी तरह डूब जाए और रसगुल्ले एक-दूसरे से दबे नही इसके लोए आप रसगुल्ले कि गोलिया छोटी-छोटी बनाएंगे तो ज्यादा अच्छा रहेगा क्युकि फूलने के बाद यह अपने साइज से डबल हो जाते है।

सफेद रसगुल्ला में क्या क्या डालता है?

रसगुल्ला बनाना बहुत ही आसान है और इसके लिये ज्यादा सामग्री कि आवश्कता भी नही है बस कुछ बातो का ध्यान रखते हुए आप इसे बड़ी ही आसानी के साथ बना सकते है इसके लिये आपको दूध, मैदा, निम्बू का रस, चीनी और पानी कि जरूरत पड़ेगी।

रसगुल्ला कितने प्रकार के होते हैं?

सफ़ेद रसगुल्ला का एक ही प्रकार होता है यह दूध को फाड़ कर बनाया जाता है बस इसमें दूध के साथ मैदा मिलाते है मैदे कि जगह सूजी या आरारोट भी मिला सकते हैइसके अलावा काला रसगुल्ला, जिसे गुलाब जामुन भी कहते है राजभोग, रसमलाई यह सब भी रसगुल्ले के प्रकार ही है बस सबके नाम और बनाने का तरीका अलग-अलग है।

रसगुल्ला का असली नाम क्या है?

रसगुल्ले को छेना रसगुल्ला, बंगाली रोसगुल्ला के नाम से भी जानते है।

मेरा रसगुल्ला रबड़ जैसा क्यों है?

छैना बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि  वह नरम बने इसके लिये दूध को 70% से 80% ठंडा हो जाने दे ज़ब दूध हल्का गर्म हो जायेगे तब दूध को फाडे नही तो रसगुल्ले अच्छे नही बनेगे और छेने को अच्छी तरह मसल-मसल कर चिकना करें, गोले-गोल बॉल्स बनाकर चीनी के पानी में उबाल आने के बाद पकायें।

रसगुल्ला का स्वाद कैसा लगता है?

रसगुल्ला स्वाद में इलायची की खुशबु के साथ मीठा रस से भरा हुआ रसीला लगता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here