काले और सफेद तिल खाने के फायदे और नुकसान | Til khane ke fayde aur nuksan in hindi

इस आर्टिकल में तिल खाने के फायदे और नुकसान (Til khane ke fayde aur nuksan), तिल के औषधि गुण, पुरुषों के लिए तिल के फायदे आदि के बारे में बताया गया है

Table of Contents

तिल का सेवन ज्यादातर ठण्ड के दिनों में करना चाहिए क्युकी इसकी तासीर गर्म होती है तिल 2 तरह के होते है सफ़ेद तिल और काला तिल, इन दोनों ही दिल कैसेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है इसके हर दाने में है सेहत की बात है इसलिए विटामिन-ए और सी को छोड़कर इसमें जरूरी सभी पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं।

 विटामिन-बी और फैटी एसिड्स से युक्त तिल में आयरन, जिंक, प्रोटीन,कॉपर, मैग्नीशियम और कैल्शियम भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं मेमोरी पावर बढ़ाने के साथ-साथ यह पाचन शक्ति को भी मजबूत बनाता है लेकिन प्रेग्नेंट महिलाएं या ऐसे लोग जिनको एलर्जी की समस्या हो, उन्हें डॉक्टर की सलाह पर ही तिल का सेवन करना चाहिए।

आयुर्वेद में इसे रक्तअल्पता के इलाज में कारगर माना गया है पानी में भिगोए हुए तिल को हल्का-सा भून लें इसके बाद इसे पानी या दूध के साथ मिक्सी में पीस लें इसे सादा या गुड़ के साथ मिलाकर पीने से रक्त की कमी दूर होती है।

100 ग्राम तिल से 1000 मिलीग्राम कैल्शियम प्राप्त होता है, जो हड्डियों के लिए भी अच्छा माना गया है सर्दियों में इसे खाने से शरीर को ऊर्जा मिलती है तभी तो सर्दियों के शुरू होते ही ज्यादातर लोग खाने में तिल को शामिल कर लेते हैं।

आज हम अपने इस आर्टिकल में आपको तिल के सेवन के बारे में और इससे होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से बतायेगे तो चलिए शुरू करते है।

तिल क्या है | what is sesame seeds in hindi

तिल का वैज्ञानिक नाम सेसमम इंडिकम (Sesamum indicum) है, इसका पौधा पेडालियासी (Pedaliaceae) परिवार से संबंधित है इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाने और अन्य भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है तिल का तेल भी निकाला जाता है जो कि बेहद फायदेमंद होता है मकर संक्राति में तिल का उपयोग करना सबसे शुभ माना गया है इस दिन भारत में सबके घरों में तिल के लड्डू बनाये जाते है और तिल दान किरण शुभ माना जाता है बाजारों तक में तिल की अनेक मिठाईया बिकती है

तिल को विश्व का सबसे पहला तिलहन माना गया है भारत में तिल का उपयोग पूजा-पाठ में भी किया जाता है कहते है शनिवार को शनिदेव को तिल के तेल का दीया जलाने से शनि ग्रह शांत रहता है इसके अलावा तिल के बीज का उपयोग और भी बहुत सी चीजों में किया जाता है तिल का पौधा लगभग एक मीटर ऊंचा होता है

वहीं इसकी पत्तियां चार से आठ इंच तक लंबी और तीन से चार इंच चौड़ी होती हैं इसके फूल गिलास के आकार के होते हैं, जो चार भागों में बंटे होते हैं तिल का सेवन कच्चे या सूखे या फिर भुने हुए स्नैक्स के रूप में किया जा सकता है तिल के फायदे कई हो सकते हैं

तिल अनाज है या नहीं | तिल व्रत में खाना चाहिए या नहीं

तिल एक बीज होता है जिसे अंग्रेजी में sesame seeds कहते हैं, और बीज को अनाज नही माना जाता, इसलिए तिल अनाज नही है और तिल का प्रयोग व्रत में भी किया जाता है।

सफेद तिल में कैल्शियम की मात्रा | Khane wala til in english | Til khane ke fayde

वैसे तो तिल (Sesame Seeds) में प्रोटीन, कैल्शियम, मिनरल्स, मैग्नीशियम आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं जो मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा है तिल के सेवन से बढ़ती उम्र का असर याददाश्त पर जल्दी नहीं पड़ता है तिल में जस्ता, कैल्शियम और फास्फोरस जैसे खनिज पाए जाते हैं जो शरीर की हड्डियों को मजबूत और जोड़ों के दर्द को कम करते हैं करीब एक चौथाई कप (351 मिलीग्राम) कैल्शियम प्रदान करता है।

तिल के औषधि गुण | Benefits of Sesame Seeds in Hindi

तिल औषधीय गुणों से भरपूर है तिल में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन-बी1, फास्फोरस, आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, कॉपर व जिंक आदि गुण पाए जाते हैं इसमें सेसमीन और सेसमोलिन नामक दो सबसे महत्वपूर्ण कंपाउंड भी पाए जाते हैं, जो कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोक सकते हैं साथ ही तिल में फाइटोस्टेरॉल, पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड होता है, जो शरीर से कोलेस्ट्रोल को कम करता है यह दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए भी फायदेमंद हो सकता है।

kala til Black sesame seeds health benefits in hindi

काले या सफेद तिल के स्वास्थ्य लाभ (Black or white sesame seeds health benefits)

यह तो सभी को पता ही होगा कि तिल काले (black sesame seeds in hindi) और सफेद दो तरह के होते हैं सबने ही इन दोनों ही तरह के तिल को देखा ही होगा इन दोनों ही तिलो के अपने-अपने लाभ है आज इन दोनों के ही पोषण मूल्‍य का पता लगाने की कोशिश करते हैं।

सर्दियों के मौसम में हम में से ज्यादातर लोगों के घरों में तिल के व्यंजनों को बड़े ही पसंद से बनाया और खाया जाता है तिल हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं पर कभी आपने सोचा हैं कि तिल दो तरह के क्‍यों होते हैं? काले और सफेद तिल में से आपके लिए ज्‍यादा सेहतमंद कौन से तिल होते हैं आइए 

इन दोनों प्रकार के तिल का सेवन किया जाता है, लेकिन हम में से अधिकांश लोग इस बात को लेकर काफी कंफ्यूज रहते हैं, कौन से तिल स्वास्थ्य के लिए अधिक फायदेमंद हैं अगर आप भी इसको लेकर कंफ्यूज हैं कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए कौन से तिल का सेवन करना चाहिए, तो आज हम आपकी इस कंफ्यूजन को दूर करेंगे तो आईये आज हम इसके बारे में बात करके पूरी जानकारी लेते है।

यह भी पढ़ेंकाला गुड़ खाने के फायदे

वाइट तिल खाने के फायदे (White til khane ke fayde)

सफेद तिल का उपयोग कई रेसिपी, स्नैक्स, केक बनाने में किया जाता है साथ ही सफेद तिल कई औषधीय गुणों से भी भरपूर होता है सफेद तिल के बीज में विटामिन और मिनरल्स का प्रचुर भंडार होता है इसलिए सफेद तिल का सेवन सेहत को कई लाभ पहुंचाता है सफेद तिल का सेवन करने से स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं से छुटकारा मिलता है खासकर सर्दियों के मौसम में सफेद तिल का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है

क्योंकि सफेद तिल की तासीर गर्म होती है, जो शरीर को गर्माहट पहुंचाता है साथ ही सफेद तिल में कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, सेलेनियम, कॉपर, आयरन, विटामिन बी 6 और विटामिन ई जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो आपको कई रोगों से बचाने में मदद करते हैं तो आइए जानते हैं सफेद तिल खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं 

  • सफ़ेद तिल हड्डियों के लिए फायदेमंद है।
  • सफ़ेद तिल से बनी चीजों का सेवन करना दिल के लिए फायदेमंद होता है।
  • सफ़ेद तिल के सेवन से कैंसर का खतरा कम होता है।
  • सफ़ेद तिल सूजन में फायदेमंद साबित होता है।
  • सफ़ेद तिल रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़कने में मदद करता है।
  • सफ़ेद तिल ब्लड प्रेशर कंट्रोल करता है।
  • सफ़ेद तिल मांसपेशियों के लिए भी फायदेमंद होता है।
Safed til ke fayde aur nuksan

काला तिल खाने के फायदे (kala til khane ke fayde)

हम अक्सर सर्दियों में शरीर को गर्म रखने के अनगिनत नुस्खे अपनाते रहते हैं इसके अलावा आग जलाने से लेकर चाय, ड्राई फ्रूट्स और पौष्टिक आहार (Nutrients) तक गर्माहट देने वाली सभी चीजें हमारी रोजमर्रा की जरुरतों में से एक होती हैं वहीं कई लोग सर्दियों के मौसम में काले तिल (Black Sesame) का भी सेवन करने की सलाह देते हैं दरअसल काला तिल प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, मैंगनीज और फाइबर जैसे गुणों से भरपूर होता है जिसके चलते ठंड में काले तिल का सेवन काफी लाभदायक साबित हो सकता है

तो आइए आज हम आपको बताने जा रहे हैं, काले तिल से होने वाले उन फायदों के बारे में जिन्हें जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

  • काले तिल के सेवन से कमजोरी दूर होती है।
  • पाईल्स की समस्या से निजात दिलाने में मदद करता है।
  • काला तिल दांतों को मजबूत बनाने में मदद करता है।
  • दिल को दुरुस्त रखने में भी लाभकारी होता है।
  • काला तिल ब्लड सर्कुलेशन नॉर्मल करता है।

तिल और गुड़ खाने के फायदे (Benefits of eating sesame and jaggery in hindi)

तिल और गुड़ को मिक्स कर के लड्डू और चिक्की बनानी जाती है यह लड्डू तिल और गुड़ में घी डाल कर बनाए जाते हैं तिल एक छोटा और ऑयली सीड होता है, जिसे बहुत हेल्दी माना जाता है सर्दियों में बनाया जाने वाला यह लड्डू क्रंची और स्वादिष्ट होता है. इसके साथ ही यह तुरंत एनर्जी भी प्रदान करता है. इसके कई हेल्थ बेनिफिट्स हैं, जिनके कारण इन्हें विंटर डाइट में शामिल किया जा सकता है

हार्ट के लिए भी तिल-गुड़ के लड्डू लाभदायक हैं सर्दियों तिल के लड्डू खाना बहुत है फायदेमंद होता है क्युकी तिल में हेल्दी फैट्स, प्रोटीन, बी विटामिन्स, मिनरल्स, फाइबर, एंटीऑक्सीडेंट्स और अन्य जरूरी कंपाउंड्स होते हैं तिल-गुड़ के लड्डू में अनसैचुरेटेड फैट्स भी होते हैं इनका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल कम हो सकता है, जिससे हार्ट डिजीज का जोखिम भी कम होता है।

यह भी पढ़ेंहींग के फायदे और नुकसान

 पुरुषों के लिए तिल के फायदे (sesame seeds benefits for male in hindi)

  सर्दियों के मौसम में तिल के तेल का सेवन करने से पुरुषों की कई समस्याओं में बहुत फायदेमंद होता है तिल के तेल में विटामिन, नेचुरल ऑयल और मिनरल्स की पर्याप्त मात्रा होती है। इसके अलावा तिल के तेल में फॉस्फोरस, जिंक, कैल्शियम, आयरन, मैंगनीज, कॉपर, थियामिन, फोलेट, विटामिन बी 6 और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। तिल के तेल में ट्रिप्टोफैन नामक आर्गेनिक कंपाउंड भी होते हैं जो पुरुषों से जुड़ी समस्याओं में बहुत फायदेमंद होते हैं तिल के तेल का सेवन पुरुषों के लिए रामबाण माना जाता है इसका सेवन करने से पुरषों में ताक़त बढ़ती है।

healthy man sesame seeds benefits for male
Image by azerbaijan_stockers on Freepik

 बालों के लिए तिल के फायदे (sesame seeds benefits for hair in hindi)

बालों के लिए तिल का तेल काफी हेल्दी हो सकता है सर्दी हो या फिर गर्मी हर सीजन में आप इस तेल को अपने बालों में लगा सकते हैं इससे सफेद बालों की परेशानी को दूर करने के साथ-साथ बालों को लंबा और घना किया जा सकता है आइए जानते हैं बालों में तिल का तेल लगाने से क्या फायदा होता है?

  • तिल का तेल बालों में लगाने से स्कैल्प को सुरक्षित रखा जा सकता है।
  • डैंड्रफ की परेशानी को दूर करने के लिए बालों में तिल का तेल लगाएं।
  • बालों की बढ़ाए चमक, सफेद बालों की समस्या को दूर करने के साथ-साथ बालों की ग्रोथ बढ़ाने में मदद करता है।

यह भी पढ़ेंतिल के तेल के फायदे

महिलाओं के लिए सफेद तिल के फायदे (white sesame seeds benefits for female )

तिल का तेल सर्दियों में महिलाओं की हेल्‍थ के पहरेदार की तरह काम करता है तिल के तेल में विटामिन ई, बी कॉम्प्लेक्स, कैल्शि‍यम, मैग्नीशि‍यम, फॉस्फोरस और प्रोटीन पाया जाता है जो हड्ड‍ियों की मजबूती से लेकर बालों को सुंदर बनाने और तनाव को दूर करने तक, तिल केे तेल का इस्‍तेमाल आप शरीर के हर हिस्‍से पर कर सकती हैं तिल का तेल एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण बढ़ती उम्र के असर, वायरस और बैक्टीरिया के इंफेक्‍शन से बचाता है। तिल शरीर को गर्माहट भी देता है, इसलिए ठंड के मौसम में इसका प्रयोग बहुत ज्‍यादा किया जाता है।

सफेद तिल खाने के फायदे और नुकसान | Safed til ke fayde aur nuksan

सफेद तिल का उपयोग लंबे समय से तेल के लिए किया जाता रहा है, लेकिन आजकल सफेद तिल का इस्तेमाल कई फूड आइटम्स में किया जा रहा है सफेद तिल खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ कई बेहतरीन गुणों से भरपूर होते हैं सफेद तिल में एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज के साथ-साथ प्रोटीन, विटामिन मिनरल्स जैसे पोषक तत्वों की मात्रा भरपूर होती है सफेद तिल का टेक्सचर काफी क्रंची होता है इसीलिए तेल के अलावा भी इसका सेवन लड्डू, स्नेक्स, केक या फूड्स में फ्लेवर के रूप में किया जा सकता है तो आईये जानते है इसके फायदेमंद और नुकसान के बारे में।

सफ़ेद तिल खाने के फायदे (Safed til khane ke fayde)

तिल का सेवन हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज जैसी गंभीर समस्याओं में लाभकारी होता है तिल में लिग्नांस और फाइटोस्टेरॉल जैसे फायदेमंद प्लांट कंपाउंड्स मौजूद होते हैं, जो बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल लेवल को मेंटेन करने में काफी फायदेमंद साबित होते हैं तो आइए जानते है सफ़ेद तिल के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में – 

  • फाइटोस्टेरॉल शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाने के साथ-साथ कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के खतरे को कम करने में सहायक हैं इसीलिए डॉक्टर्स तिल का सेवन करने की सलाह देते हैं।
  • तिल का तेल स्किन को जरूरी पोषण तत्व देता है जिससे स्किन में नमी बनी रहती है। 
  • सफेद तिल को कूटकर खाने से कब्ज की समस्या से निजात मिलती है।
  • तिल में डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड मौजूद होता है जो मांसपेशियों को भी स्ट्रॉन्ग बनता है।
  • सर्दियों में सफेद तिल का सेवन शरीर में उर्जा का संचार करता है और इसके तेल की मालिश करने से दर्द में राहत मिलती है। 

सफेद तिल खाने के नुकसान | White sesame seeds side effects in hindi | Safed til khane ke nuksan

तिल के लाभ तो लोगों को पता हैं, लेकिन इससे होने वाले नुकसान भी सभी को पता होने जरूरी हैं तो चलिए जानते हैं सफेद तिल से क्या नुकसान (sesame side effects) मिलते हैं।

पेट में जलन – तिल के अधिक सेवन से व्यक्ति को पेट में जलन की समस्या हो सकती है इसलिए व्यक्ति को इसके ज्यादा सेवन से बचना चाहिए।

वजन कम करने में मदद – अगर कोई व्यक्ति अपना वजन कम करने का सोच रहा हैं, तो तिल का अधिक सेवन उसके लिए नुकासनदायक हो सकता है। दरअसल तिल के अंदर फैट पाया जाता है जिससे आपको इसका उल्टा रिजल्ट देखने को मिलेगा।

एलर्जी की समस्या – तिल के सेवन से कई बार शरीर में कम एलर्जी की समस्या भी हो सकती है जैसे- पाचन से संबंधित समस्या, सूजन, नाक बहना आदि।

अपेंडिक्स इन्फेक्शन (appendix infection in hindi)- तिल के सेवन से अपेंडिक्स इन्फेक्शन (appendix infection) होने का खतरा भी रहता है क्युकी यह बेहद छोटे होते हैं, जिसकी वजह से यह शरीर के अंग में फँस जाते हैं जो आपको गंभीर समस्या में डाल सकते हैं।

गर्भवती महिलाएं – अगर आप गर्भवती है तो आप अपने शुरुआती समय में तिल का सेवन नही करे इससे आपके स्वास्थ्य पर असर पड़ेगा और गर्भपात का भी खतरा बढ़ जायेगा।

तिल खाने के कुछ अन्य नुकसान (side effects of eating sesame seeds | Til khane ke nuksan

गर्मियों में तिल के सेवन से बचना चाहिए गर्मियों में रोज-रोज तिल खाने से सेहत को नुकसान पहुंच सकता है तिल के बीज के फायदे ब्लड शुगर लेवल को कम करने के लिए जाने जाते हैं लेकिन अगर तिल के बीज का सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाए तो ब्लड शुगर लेवल सामान्य से भी कम हो सकता है और यह हानिकारक है गाउट की बीमारी से गुजरने वाले लोगों को तिल के बीज के सेवन से एकदम दूर रहना चाहिए तिल के बीज में ऑक्सालेट्स नाम का कंपाउंड पाया जाता है जिससे गाउट होने के आसार बढ़ जाते हैं।

विल्सन की बीमारी में शरीर से अलग- अलग अंगों में कॉपर जमा होने लगता है जो कई बार खतरनाक हो सकता है तिल के बीज में कॉपर पाया जाता है इसलिए जो लोग इस बीमारी से गुजर रहे हैं वो लोग तिल के बीज से दूर रहें तो आईये जानते है ज्यादा तिल के सेवन से होने वाले नुकसान के बारे में।

  • ज्यादा तिल के बीज के सेवन से ब्लड प्रेशर कम हो सकता है।
  • तिल के बीज का ज्यादा सेवन पथरी का कारण बन सकते हैं।
  • तिल के बीज से तीव्रग्राहिता का खतरा हो सकता है।
  • तिल के बीज के सेवन से अस्वस्थ तरीके से वजन बढ़ सकता है।

तिल से सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल

1 दिन में कितने तिल खाने चाहिए?

स्वस्थ शरीर वाले लोग नियमित रूप से 50 से 70 ग्राम तिल का सेवन कर सकते हैं।

तिल रोज खाने से क्या होता है?

तिल के बीज शाकाहारी आहार के लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है क्योंकि इसे प्रोटीन का अच्छा स्रोत माना जाता है और प्रोटीन एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है नियमित रूप से इन बीजों के पर्याप्त हिस्से खाने से – न केवल कभी-कभार बर्गर बन पर छिड़कने से – रक्त शर्करा नियंत्रण, गठिया के दर्द से निपटने और कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद मिल सकती है ।

तिल का सेवन कब करना चाहिए?

सुबह खाली पेट तिल का सेवन मुंह के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है सुबह खाली पेट तिल चबाकर खाने से दांत और मसूड़े मजबूत बनते हैं दरअसल, तिल में भरपूर मात्रा में फाइबर और कैल्शियम पाया जाता है।

सफेद तिल में कौन से विटामिन होते हैं?

सफ़ेद तिल में कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, जिंक, सेलेनियम, कॉपर, आयरन, विटामिन बी 6 और विटामिन ई जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो आपको कई रोगों से बचाने में मदद करते हैं।

काले और सफेद तिल में क्या अंतर है?

सफेद तिल के बीच सबसे बड़ा अंतर रंगों का है एक का रंग काला है तो दूसरे का सफेद! ऐसा इसलिए क्युकि काले तिल में छिलके मौजूद होते हैं, इसलिए सफेद तिल से ज्यादा पौष्टिक होते हैं और स्वाद में कड़वा होता है काले और सफेद तिल में मौजूद पोषक तत्वों में थोड़े अंतर पाए जाते है।

काला तिल खाने से क्या लाभ है?

काले तिल में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कैल्शियम, विटामिन ई और बी विटामिन के अलावा प्रोटीन, फाइबर और स्वस्थ वसा का बेहतरीन स्रोत है तिल का सेवन करने से हृदय संबंधी रोग और न्यूरोडीजेनरेटिव डिजीज सहित अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की रोकथाम में योगदान करता है।

Rate this post

Leave a Comment