Quinoa in hindi

इस आर्टिकल में किनोआ क्या है (Quinoa in hindi), Side effects and Benefits of quinoa in hindi (क्विनोआ के फायदे और नुकसान) , किनोवा के प्रकार एवं इससे जुडी अन्य जानकारियां दी गयी हैं

क्विनोआ एक सुपरफूड के रूप में जाना जाता है, जिसमें अन्य अनाजों के अपेक्षा अधिक मात्रा में प्रोटीन और आवश्यक अमीनो एसिड होते हैं। इसके अलावा, यह एक उत्तम स्त्रोत है विटामिन बी, विटामिन ई, फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन, और फाइबर का। क्विनोआ में शाहारियों के लिए जरूरी एसिड लाइसिन भी होता है। 2013 में, क्विनोआ अंतर्राष्ट्रीय वर्ष के रूप में मनाया गया था, जिससे इसकी खपत धीरे-धीरे बढ़ने लगी है।

 क्विनोआ (Quinoa in hindi) को 500 ईसा पूर्व से 3000 ईसा पूर्व तक, सिर्फ दक्षिण अमेरिकी एंडोज रीजन में उगाया जाता था जहाँ इसे स्थानीय निवासियों के लिए एक पवित्र भोजन माना जाता था। हालांकि, धीरे-धीरे इसका उपयोग और उत्पादन कम हो गया और स्थानीय सामुदायिक भूमि तक ही सीमित हो गया जिससे कई प्रकार के किनोवा का विकास हुआ। विज्ञानीय रूप से, क्विनोआ का नाम पेनोपोडियम क्विनोआ वाइल्ड है और यह चेनोपोडिएशिजाई परिवार से संबंधित है क्विनोआ फाइबर, प्रोटीन, मिनरल्स, विटामिन्स और अमीनो एसिड का एक उत्कृष्ट स्रोत है।

इसे युग का सुपरफूड माना जाता है। अधिकांश अनाजों के विपरीत, इस सुपर प्रोटीन युक्त सभी तत्वों में भी आवश्यक एसिड होते हैं जिससे यह शाहारियों के लिए एक वरदान है। क्विनोआ ज्यादातर बिना ग्लूटेन वाला होता है और इसलिए वे जो ग्लूटेन से पीड़ित होते हैं उनके लिए एक अत्यंत उपयोगी विकल्प होता है। हम उपमा, सूप, डोसा और सलाद में क्विनोआ का उपयोग करना पसंद करते हैं आइए क्विनोआ के बारे में विस्तार से जानते है ।

 क्विनोआ क्या होता है  | Quinoa kya hota hai

Quinoa in hindi- क्विनोआ एक विदेशी अन्न है जो दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है। इसके बीज गोल और रंग में लाल, भूरा और काला होते हैं जैसा कि ओट्स और गेहूं के बीजों की तरह होता है। किनोआ के बीज चिया बीज से थोड़े बड़े होते हैं और इसका उपयोग चावल, गेहूं और दाल की तरही खाने में किया जाता है। हालांकि, किनोआ (kinova) को भारत में कुछ लोग क्चिन्वा, किनवा, क्विनोआ, किनोबा, मध्ये, केनवा आदि के नाम से भी जानते हैं। इसका उच्चारण “कीन वाह” के रूप में किया जाता है।

क्विनोआ का हिंदी नाम | Quinoa hindi name in india

Quinoa भारतीय मूल का पौधा नहीं है, बल्कि दक्षिण अमेरिका में पाया जाने वाला एक ऐडिन क्षेत्र का मूल का पौधा है। इसलिए इस पौधे या इसके बीजों का कोई हिंदी नाम नहीं है। हालांकि, भारत में कुछ लोग इसे “क्चिन्वा”, “किनवा”, “क्विनोआ”, “किनोबा”, “मध्ये”, “केनवा” आदि नामों से भी जानते हैं। इसका उच्चारण “कीन वाह” के रूप में किया जाता है।

क्विनोआ के प्रकार | Types of Quinoa in Hindi

क्विनोआ एक विविध रंगों वाला अनाज होता है। इसमें कई प्रकार के क्विनोआ होते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख निम्नलिखित हैं।

  • सफ़ेद क्विनोआ (White Quinoa)- यह सबसे आम तरीके से मिलने वाला क्विनोआ होता है। इसकी बीज सफेद रंग के होते हैं और पकने में कम समय लगते हैं।
  • काला क्विनोआ (Black Quinoa) – यह क्विनोआ हल्का मीठे स्वाद वाला होता है। इसकी बीज काले और भूरे रंग के होते हैं जो पकने के बाद भी काला रंग ही रहते हैं। इसके पकने में अधिक समय लगता है।
  • लाल क्विनोआ (Red Quinoa) – यह क्विनोआ बाजार में कम उपलब्ध होता है। इसकी खेती कम मात्रा में की जाती है इसलिए यह महंगा होता है। इसकी बीज पकने के बाद भी लाल रंग ही रहते हैं।

यह भी पढ़ें – 20+ स्वादिष्ट और स्वास्थवर्धक क्विनोआ रेसिपी

क्विनोआ के पोषक तत्वों की जानकारी | Quinoa nutrition value per 100 gram

पोषण मूल्यप्रति 100 ग्राम
कैलोरी368
प्रोटीन14 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट64 ग्राम
फाइबर7 ग्राम
शक्कर1.6 ग्राम
विटामिन सी0 मिलीग्राम
विटामिन ए1 मिलीग्राम
विटामिन डी0 मिलीग्राम
विटामिन बी60.5 मिलीग्राम
विटामिन बी120 मिलीग्राम
कैल्शियम47 मिलीग्राम
आयरन4 मिलीग्राम
पोटैशियम563 मिलीग्राम
मैग्नीशियम197 मिलीग्राम
जिंक3 मिलीग्राम

यह एक उत्कृष्ट प्रोटीन स्रोत होता है और यह विटामिन, मिनरल, फाइबर और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

Quinoa online  |  quinoa 1kg price in india

भारत में क्विनोआ कीमत विभिन्न ब्रांड और बाजारों पर भिन्न-भिन्न होती है। आमतौर पर, क्विनोआ की कीमत 300 रुपये से 600 रुपये प्रति किलो तक हो सकती है। इसके अलावा, उत्पाद के गुणवत्ता, उत्पाद की विशेषताएं और ब्रांड के नाम पर भी इसकी कीमत प्रभावित होती है।

यह भी पढ़ें – ज्वार के फायदे और नुकसान

क्विनोआ खाने के फायदे और नुकसान | Side effects and benefits of quinoa in hindi

क्विनोआ एक प्रकार का अनाज है जो सफेद, लाल और काले रंग में पाया जाता है। इसमें बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन, आयरन, फाइबर जैसे महत्वपूर्ण तत्व होते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी होते हैं।

किनोवा को सुबह के नाश्ते में खाने से बहुत स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इसमें एंटी-सेप्टिक, एंटी-कैंसर और एंटी-एजिंग गुण होते हैं जो हमारे शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करते हैं। क्विनोआ का सेवन वजन घटाने और कब्ज के इलाज के लिए बहुत लाभकारी होता है। इसमें मौजूद फाइबर हृदय रोग और कैंसर जैसे घातक रोगों को रोकता है। इसके अलावा, क्विनोआ एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होता है जो त्वचा और बालों के स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होते हैं।

हालांकि, क्विनोआ के अत्यधिक सेवन से कुछ नुकसान हो सकते हैं। इसमें ऑक्सलेट्स होते हैं जो बहुत अधिक मात्रा में शामिल होने पर शरीर को नुकसान पहुंचा सकते है तो आईये आपको इसके कुछ फायदे और नुकसान के बारे में बताते है।

क्विनोआ के फायदे | Quinoa ke fayde | Benefits of quinoa in hindi

क्विनोआ, एक खाद्य पदार्थ है जो मुख्य रूप से सफेद, लाल और काले रंग में उपलब्ध होता है। सफेद किनोवा दुकानों में आसानी से मिलने वाला प्रकार होता है जबकि रैंड क्विनोआ, जिसे पकाने के बाद भी उसका रंग बरकरार रहता है, सलाद या रेसिपी के लिए उपयुक्त होता है। ब्लैक क्विनोआ, जो सफेद क्विनोआ की तुलना में थोड़ा मीठा होता है, भी पकाया जा सकता है और इसका काला रंग बरकरार रहता है।

क्विनोआ का नियमित सेवन स्वास्थ्य के लिए कई लाभ प्रदान करता है।

  • उच्च प्रोटीन स्रोत: क्विनोआ एक उच्च प्रोटीन स्रोत है जो शरीर के विकास और मरम्मत के लिए आवश्यक नौ आवश्यक एमिनो एसिड प्रदान करता है।
  • सेहतमंद त्वचा: क्विनोआ में विटामिन ई की अधिक मात्रा होती है जो त्वचा के लिए फायदेमंद होती है। इसके अलावा, इसमें एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं जो त्वचा को रोगों से बचाते हैं।
  • डायबिटीज के लिए फायदेमंद: क्विनोआ में अल्प अवधि वाले कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो इंसुलिन के स्तर को कम करते हैं। इसलिए, यह डायबिटीज के मरीजों के लिए एक फायदेमंद आहार विकल्प हो सकता है।
  • स्वस्थ दिल: क्विनोआ में बेहतरीन तरीके से संतुलित ओमेगा-3 और ओमेगा-6 वसा होती है जो हृदय रोगों से बचाव के लिए फायदेमंद होती है।
  • वजन घटाने के लिए फायदेमंद: क्विनोआ में अधिक मात्रा में पोषक तत्व होते हैं जो संतुलित डाइट के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा, यह भूख को कम करने में मदद करता है और भोजन के बाद भी लंबे समय तक भुख नहीं लगती है।
  • आंत को स्वास्थ्य रखे: क्विनोआ में फाइबर की अधिक मात्रा होती है जो पाचन के लिए फायदेमंद होती है। इसके अलावा, यह बैक्टीरियल विकारों से लड़ने में मदद करता है और आंतों को स्वस्थ रखने में मदद करता है।
  • विटामिन और खनिजों का स्रोत: क्विनोआ में विटामिन बी, फोलेट, विटामिन ई, जिंक, मैग्नीशियम, पोटैशियमऔर कैल्शियम जैसे कई महत्वपूर्ण विटामिन और खनिज होते हैं। इसलिए, इसका नियमित सेवन आपको स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है।

यह भी पढ़ें- बाजरा खाने के फायदे और नुकसान

त्वचा के लिए क्विनोआ के फायदे | Quinoa benefits for skin in hindi

क्विनोआ स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है। क्योंकि यह विटामिन ई, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, जिंक, राइबोफ्लेविन, बायोटिन और नियासिन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसके अलावा, क्विनोआ एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुणों से भी भरपूर होता है जो त्वचा को स्वस्थ और चमकदार बनाए रखने में मदद करते हैं। इसके सेवन से त्वचा की रूखापन कम होता है और त्वचा की मॉयस्चराइजिंग प्रक्रिया बढ़ती है जो उसे नरम, मुलायम और झिल्ली बनाए रखती है।

डायबिटीज में क्विनोआ के फायदे | Quinoa benefits for diabetes in hindi

क्विनोआ डायबिटीज के लिए फायदेमंद होता है क्योंकि यह एक निम्न ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाला खाद्य है। यह शरीर को धीमे रूप से ग्लूकोज उपलब्ध कराता है जिससे शरीर के इंसुलिन स्तर को संतुलित रखने में मदद मिलती है। क्विनोआ में फाइबर की अधिक मात्रा होती है जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करती है। क्विनोआ में प्रोटीन की भी अधिक मात्रा होती है जो भोजन को पचाने में मदद करती है और शरीर के ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करती है।

क्विनोआ में मौजूद अंतर्निहित वसा, मिनरल और विटामिन संयोजन रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। क्विनोआ में मौजूद लीचीन, इनोसिटोल और मैग्नीशियम डायबिटीज के मरीजों के लिए उपयोगी होते हैं। ये तत्व इंसुलिन के स्तर को संतुलित रखने में मदद करते हैं जो रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करते हैं।

क्विनोआ एक स्वस्थ खाद्य है जो डायबिटीज के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसे डाइट में शामिल करने से डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकता है।

किनोआ के फायदे | Benefits of quinoa in hindi

क्विनोआ खाने के नुकसान | Side effects of quinoa in hindi

Quinoa ke nuksan – क्विनोआ एक स्वस्थ खाद्य है और इसे खाने के नुकसान बहुत ही कम होते हैं। हालांकि कुछ बातो का ध्यान और नियमित रूप से ही इसका सेवन करना चाहिए नहीं तो इसके नुकसान भी हो सकते है आइये जानते इस्सके सेवन से होने वाले नुकसानो के बारे में – 

  • कुछ लोगों को क्विनोआ के खाने से पेट में असमंजस की समस्या हो सकती है यह पाचन संबंधी समस्याओं के कारण होता है जैसे कि गैस, उलटी और पेट में दर्द।
  • क्विनोआ में ऑक्सलिक एसिड की मात्रा होती है जो कैल्शियम को अवशोषित करने में अवरोध कर सकती है। इसलिए, अधिक मात्रा में क्विनोआ खाने से कैल्शियम की कमी हो सकती है।
  • इसके अलावा, कुछ लोगों को क्विनोआ से एलर्जी हो सकती है जो उनके शरीर के अनुसार होता है।
  • अगर आपको क्विनोआ से संबंधित कोई समस्या होती है तो आपको अपने चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

क्विनोआ के बीज | Quinoa seed in hindi

क्विनोआ के बीज थोड़े नुकीले सिरे के साथ छोटे, गोल और चपटे होते हैं  वे विविधता के आधार पर बेज से गहरे लाल या काले रंग में हो सकते हैं।  पकने पर, बीज थोड़े अखरोट के स्वाद के साथ नरम और फूले हुए हो जाते हैं।  क्विनोआ के बीज लस मुक्त, प्रोटीन, फाइबर और कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जो उन्हें विभिन्न प्रकार के व्यंजनों के लिए एक लोकप्रिय और पौष्टिक जोड़ बनाता है।

quinoa in a wooden spoon
Photo by Vie Studio: https://www.pexels.com/photo/quinoa-grains-on-a-spoon-7421203/

यह भी पढ़ें- जौ के फायदे और नुकसान

क्विनोआ की खेती | Quinoa ki kheti

किनवा की खेती के लिए विशेष रूप से कोई खास मिट्टी या अधिक पानी की आवश्यकता नहीं होती है। यह विभिन्न प्रकार की मिट्टियों में उगाई जा सकती है। इसलिए, किनवा की खेती भारत के विभिन्न राज्यों में की जा रही है।

इसके अलावा, किनवा की खेती में अधिक जलभराव वाली भूमि से बचना चाहिए। इसके लिए, खेतों के आसपास पानी की सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होनी चाहिए। किनवा के बीज छोटे और गोल होते हैं और इनके रंग सफेद, लाल, काला एवं अन्य विविध रंगों में होते हैं। इन बीजों को आसानी से बीच से बांटकर खेत में बोया जा सकता है। इससे पौधों के बीच की दूरी और तालीम आसान हो जाती है।

बीज

किनवा के बीज आकार में छोटे और गोल होते हैं और इनके रंग सफेद, लाल, काला और कई अन्य रंगों में पाए जाते हैं। आप इन बीजों को किसी भी स्थानीय बीज दुकान से या ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं।

उपयुक्त मिट्टी

जब बात किनवा की खेती की जाती है, तो यह फसल किसी भी प्रकार की मिट्टी में उगाई जा सकती है। चाहे वह मृदा बंजर, मैदानी या पथरीली हो। हालांकि, अधिक जलभराव वाले खेत किनवा की खेती के लिए अनुचित होते हैं।

अच्छी उत्पादकता के लिए, खेतों के आस-पास पानी की सिंचाई की सुविधा भी आवश्यक होती है। किनवा की खेती छारीय और अम्लीय दोनों ही तरह की मिट्टियों पर उगाई जा सकती है। इसके लिए, किसानों को बिना जलभराव वाले खेतों का चयन करना चाहिए इस फसल की उत्पादकता को बढ़ाने के लिए, किसानों को अपनी खेतों के लिए एक अच्छी सिंचाई व्यवस्था भी सुनिश्चित करनी चाहिए। यदि संभव हो, तो बारिश के पानी को भी संचयित किया जा सकता है जो फसल के लिए उपयोगी होता है।

जलवायु एवं तापमान

क्विनोआ के लिए, भारत की जलवायु इसके लिए उपयुक्त मानी जाती है। यह फसल रबी फसल के साथ शुरू की जा सकती है और सर्दी, गर्मी और बरसात के दौरान भी उगाई जा सकती है। किनवा को अंकुरित करने के लिए, 20 डिग्री सेल्सियस की तापमान की जरूरत होती है और इसके बाद इसे 0 से 35 डिग्री सेल्सियस के बीच तापमान में रखना चाहिए। इस फसल को अधिकतम गर्मियों के मौसम में भी उगाया जा सकता है।

क्विनोआ का पौधा कैसा होता है | Quinoa plant in hindi

क्विनोआ एक फसल है जो वर्षबहार उगाया जाता है। यह शाकाहारी पौधा है जिसमें फूल लगते हैं। इसके बीजों को उगाया जाता है जो कि इसकी मुख्य फसल होती हैं। क्विनोआ का पौधा 3 से 7 फीट तक ऊँचा होता है। इसमें खस्ता, बालों वाली, लोब वाली पत्तियां होती हैं जो व्यापकता से व्यवस्थित होती हैं। इसके फूल छोटे होते हैं और बीजरहित होते हैं। क्विनोआ का वैज्ञानिक नाम ‘चिनोपोडियम क्विनोआ’ (Chenopodium quinoa) है और यह Amaranthaceae परिवार से संबंधित होता है।

यह भी पढ़ें- मिलेट्स क्या है तथा इसके प्रकार

क्विनोआ से सम्बंधित पूछे जाने वाले सवाल

Q. क्विनोआ भारत में पाया जाता है?

अगर आप क्विनोआ के नियमित सेवन का अभ्यास बनाना चाहते हैं तो आपको उसकी कीमत पर ध्यान देना आवश्यक होगा। यह सत्य है कि क्विनोआ भारतीय मूल का अनाज नहीं है जिसके कारण इसकी कीमत अन्य अनाजों की तुलना में थोड़ी ज्यादा हो सकती है हालांकि, क्विनोआ आपको बहुत से स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। यह फाइबर, प्रोटीन, विटामिन और खनिजों से भरपूर होता है जो आपके शरीर के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

Q. किनोवा अनाज क्या होता है?

किनोवा अनाज एक प्रकार का खाद्य अनाज होता है जो स्वस्थ खाद्य विकल्प के रूप में उपयोग किया जाता है। यह दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है और विभिन्न रंगों और आकारों में होता है।

Q.क्विनोआ का दूसरा नाम क्या है?

क्विनोआ, जिसका उच्चारण कीन-वाह होता है, चेनोपोडियम क्विनोआ पौधे का बीज होता है। वास्तविक रूप से इसे एक दाना नहीं माना जाता है, लेकिन इसे अक्सर “स्यूडोग्रेन” के रूप में जाना जाता है क्योंकि इसमें पोषक तत्वों की अधिकता होती है और यह अनाज के दानों के समान तरीके से खाया जाता है।

Q.क्या क्विनोआ और जौ एक ही है?

नहीं, क्विनोआ और जौ एक नहीं हैं दोनों अलग-अलग अनाज होते हैं जो अलग-अलग फसल के पौधों से उत्पन्न होते हैं।

Q. क्विनोआ किसे नहीं खाना चाहिए?

क्विनोआ एक स्वस्थ खाद्य विकल्प होता है लेकिन कुछ लोग इसे नहीं खा सकते हैं, जैसे कि जिन्हें इससे एलर्जी होती है या जिन्हें इसे पचाने में मुश्किल होती है।

Q.क्या क्विनोआ कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छा है?

हाँ, क्विनोआ कोलेस्ट्रॉल के लिए अच्छा होता है। यह एक उच्च फाइबर खाद्य होता है जो आपके शरीर में बुरे कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मदद करता है और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में मदद करता है।

Q.क्विनोआ रोज खाने से क्या होता है?

क्विनोआ रोज खाने से आपको अनेक स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। इसमें उच्च मात्रा में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन, मिनरल और अन्य उपयोगी पोषक तत्व होते हैं। इसका नियमित सेवन आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है, आपके भोजन में अधिक विटामिन और मिनरल शामिल करता है, साथ ही साथ आपकी पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है।

यह भी पढ़ें –

सब्जा बीज क्या है इसके अद्भुत 10 फायदे

रागी के 5 हैरतअंगेज फायदे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here